Health

मोहाली ग्रेनेड अटैक: हमलावरों को 3 दिन तक पनाह देने वाला शख्स पकड़ा गया, लांचर भी बरामद

पुलिस ने मंगलवार को हमले में इस्तेमाल किया गया लॉन्चर बरामद कर लिया है। मोहाली पुलिस की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, "कई संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की गई है।

 

2022 May/11 PRJ News Bureau

मोहाली ग्रेनेड हमले के पीछे कथित भूमिका वाले 26 वर्षीय निशान सिंह को पुलिस ने हिरासत में लिया है। पंजाब पुलिस राज्य की खुफिया शाखा के कार्यालय में तीसरी मंजिल पर हुए रॉकेट हमले की जांच कर रही है। पुलिस ने कहा कि निशान सिंह तरनतारन जिले का है और उस पर डकैती और फरीदकोट और तरनतारन में आर्म्स एक्ट सहित पांच मामले हैं। पुलिस ने बताया कि आरपीजी हमले से पहले निशान सिंह ने दो आरोपियों को तीन दिन तक अमृतसर में पनाह दी थी।

इससे पहले पंजाब पुलिस ने मंगलवार को हमले में इस्तेमाल किया गया लॉन्चर बरामद कर लिया है। मोहाली पुलिस की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, “कई संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की गई है। हमले में इस्तेमाल किए गए लांचर को पुलिस ने बरामद कर लिया है और मामले में सामने आए सभी सुरागों का बारीकी से पता लगाया जा रहा है।”

घटना के संबंध में मोहाली के सोहाना पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) और विस्फोटक अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को कहा कि राज्य में माहौल खराब करने वालों को ‘‘कड़ी से कड़ी’’ सजा दी जाएगी।

गौरतलब है कि मोहाली में सेक्टर 77 स्थित पुलिस के खुफिया इकाई के मुख्यालय परिसर में सोमवार रात रॉकेट चालित ग्रेनेड से हमला किया गया था, जिससे इमारत की खिड़कियों के शीशे टूट गए थे। इस घटना को एक बड़ी खुफिया विफलता के रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि इस इमारत में राज्य की ‘काउंटर इंटेलिजेंस विंग’, विशेष कार्य बल और कुछ अन्य इकाइयों के कार्यालय हैं। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। राजनीतिक दलों ने इसे ‘‘परेशान करने वाली’’ और ‘‘चौंकाने वाली’’ घटना करार दिया है।

Related Articles

Back to top button