Maharashtra

राज ठाकरे को AIMIM ने दिया इफ्तार का न्योता, रैली से पहले औरंगाबाद सांसद ने बुलाया

पुणे में रात रुकने के बाद ठाकरे शनिवार सुबह औरंगाबाद के लिए निकल सकते हैं। कुछ दिनों पहले ही मनसे प्रमुख ने 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए अल्टीमेटम दिया है।

2022 अप्रैल /30 PRJ न्यूज़ ब्यूरो

औरंगाबाद में रैली का ऐलान करने वाले महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे को इफ्तार पार्टी का न्यौता मिला है। खबर है कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने ठाकरे को इफ्तार के लिए आमंत्रित किया है। खास बात है कि मनसे प्रमुख की रैली से पहले औरंगाबाद में पुलिस ने धारा 144 लागू कर दी थी। हालांकि, खबर है कि कुछ शर्तों के साथ उन्हें रैली की अनुमति मिल गई है।

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, औरंगाबाद से AIMIM सांसद इम्तियाज जलील ने ठाकरे को इफ्तार पार्टी के लिए आमंत्रित किया है। उन्होंने शहर में शांति और सद्भावना के प्रयास में यह फैसला लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, पुणे में रात रुकने के बाद ठाकरे शनिवार सुबह औरंगाबाद के लिए निकल सकते हैं। कुछ दिनों पहले ही मनसे प्रमुख ने 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए अल्टीमेटम दिया है।

मनसे के एक नेता ने कहा, ‘पुलिस ने रैली आयोजित करने के लिए 15 शर्तें रखी हैं…।’ रैली को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ‘जितनी बार उन्होंने (राज ठाकरे ने) अपना मत बदला है, वह पीएचडी के लिए एक विषय है।’ वहीं, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल का कहना है, ‘रैली ने राज्य के लोगों को बीच काफी दिलचस्पी पैदा कर दी है।’

भाजपा के साथ जाने से इनकार
मनसे नेताओं ने भाजपा के साथ मनसे के गठबंधन की बात से फिलहाल इनकार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पार्टी के नेता नितिन सरदेसाई ने कहा, ‘राजनीति में कुछ भी हो सकता है… लेकिन फिलहाल भाजपा के साथ गठबंधन के संबंध में कोई चर्चा नहीं है।’

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘मनसे के साथ गठबंधन के लिए कोई चर्चाएं नहीं हैं और न ही किसी तरह का औपचारिक प्रस्ताव है…। सब कुछ अटकलों में है।’ केंद्रीय मंत्री रावसाहब दानवे का कहना है, ‘भाजपा और मनसे के बीच गठबंधन का फैसला इस देश के लोग करेंगे। राजनेताओं के हाथ में कुछ भी नहीं है।’

Related Articles

Back to top button