Maharashtra

सीमा से लगे मराठी भाषी गांवों राज्य का हिस्सा बनाने के लिए लड़ेंगे, महाराष्ट्र दिवस पर बोले अजित पवार

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम इन गांवों के लोगों की ओर से महाराष्ट्र का हिस्सा बनने की लड़ाई का समर्थन करते रहेंगे। हमारा प्रयास जारी रहेगा।

2022 मई /01 PRJ न्यूज़ ब्यूरो

महाराष्ट्र दिवस पर शिवाजीनगर में पुणे शहर के पुलिस मुख्यालय में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने ध्वजारोहण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र दिवस पर, हमें अभी भी खेद है कि बेलगाम, निपाई और कारवार सहित राज्य की सीमा पर कई मराठी भाषी गांव अभी तक हमारे राज्य का हिस्सा नहीं बन सके। अजीत पवार ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम इन गांवों के लोगों की ओर से महाराष्ट्र का हिस्सा बनने की लड़ाई का समर्थन करते रहेंगे।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को महाराष्ट्र और गुजरात के स्थापना दिवस पर दोनों राज्यों के लोगों को बधाई दी। उन्होंने महाराष्ट्र के लोगों की समृद्धि और गुजरात की प्रगति जारी रहने की कामना भी की। मालूम हो कि वर्ष 1960 में एक मई के दिन ही महाराष्ट्र और गुजरात अलग-अलग राज्य के रूप में अस्तित्व में आए थे। इससे पहले, दोनों राज्य बंबई प्रांत का हिस्सा थे।

PM मोदी ने महाराष्ट्र दिवस पर शुभकामनाएं दी
प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महाराष्ट्र दिवस पर राज्य के लोगों को बहुत सारी शुभकामनाएं। राष्ट्र की प्रगति में इस राज्य ने अतुलनीय योगदान दिया है। महाराष्ट्र के लोगों ने विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उत्कृष्टता का परिचय दिया है। मैं राज्य के लोगों की समृद्धि की कामना करता हूं।’’

उन्होंने मराठी भाषा में भी लोगों को बधाई दी। एक अन्य ट्वीट में मोदी ने कहा, ‘‘गुजरात के स्थापना दिवस पर राज्य के लोगों को ढेर सारी शुभकामनाएं। महात्मा गांधी, सरदार पटेल और अन्य महान लोगों की प्रेरणा से गुजरात के लोगों की उनकी विभिन्न उपलब्धियों के लिए सराहना की जाती है। आने वाले वर्षों में गुजरात की प्रगति जारी रहने की कामना करता हूं।’’

 

 

Related Articles

Back to top button