Bihar

नीतीश कुमार के जबड़े में 82 दांत , पटना के डॉक्टरों ने सर्जरी कर निकाला!

2021 जुलाई 10 / PRJ  News ब्यूरो / बिहार: पटना के IGIMS के डॉक्टर उस समय हैरान रह गए जब उन्होंने एक किशोर के जबड़े में 82 दांत को देखा। डॉक्टरों का कहना है कि संभवत यह देश का पहला मामला है जहां इस तरह का सफल ऑपरेशन किया गया है। डॉक्टरों का दावा है कि देश में अपनी तरह का यह पहला मामला है। परिजनों के अनुसार 17 वर्षीय नीतीश कुमार पिछले 5 वर्ष से इस बीमारी से जूझ रहा था। उन्होंने बताया कि पिछले दो वर्षों से नीतीश के दोनों जबड़े फैलने लगे थे। इसकी वजह से का चेहरा सूज गया और वह असामान्य दिखने लगा। परिजनों ने बताया कि वह नीतीश को लेकर दिल्ली, कोलकाता, वाराणसी समेत देश के कई बड़े शहरों में इलाज कराने की कोशिश की लेकिन उसकी बीमारी पकड़ में नहीं आ सकी। परिजनों ने कहा कि अंत में वह नीतीश को लेकर आईजीआईएमएस (IGIMS) पहुंचे जहां डॉक्टरों ने न सिर्फ बीमारी को डिटेक्ट किया, बल्कि जबड़े का सफल ऑपरेशन कर नीतीश को दूसरी जिंदगी भी दी।

पटना IGIMS सुपरिटेंडेंट डॉ मनीष मंडल ने बताया कि अस्पताल लाने के कई दिन पहले से ही नीतीश कुमार कुछ खा – पी नहीं पा रहा था। उन्होंने बताया कि मुंह के अंदर उसे कोई परेशानी नहीं थी लेकिन जबड़े का निचला हिस्सा फूल जाने की वजह से इतनी सूजन आ गई थी उसे मुंह खोलने में भी तकलीफ होती थी। उन्होंने बताया कि इसके लिए डॉक्टरों की एक टीम तैयार की गई जिसके बाद नीतीश के जबड़े के ट्यूमर को ऑपरेशन के जरिए सफलतापूर्वक निकाल दिया गया। डॉक्टर मनीष मंडल ने बताया कि नीतीश कुमार के जबड़े से 82 दांत निकाले गए।
17 वर्षीय नीतीश कुमार के जबड़े का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों की टीम ने कहा कि यह कोई साधारण ट्यूमर नहीं था। डॉक्टरों ने बताया कि ऐसे ट्यूमर अनुवांशिक कारण या फिर जबड़े में चोट लगने की वजह से या इसके अलावा जबड़े में दांत करने की प्रक्रिया मैं गड़बड़ी आने की वजह से भी इस तरह का मामला देखा जाता है। डॉक्टरों ने कहा कि 82 दांत वाले जबड़े में दांतों का गुच्छा सामान्य दांतो की तरह ही बढ़ रहा था। यही वजह थी कि 17 वर्षीय किशोर को काफी तकलीफ उठानी पड़ रही थी। डॉक्टर ने बताया कि ऑपरेशन के बाद मरीज बिल्कुल स्वस्थ है। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन किस प्रकार से किया गया है कि नीतीश कुमार का चेहरा भी सामान्य रहे।

Related Articles

Back to top button