Bihar

बिहार के 23 पुलिसकर्मियों को मिला विशिष्ट व सराहनीय सेवा पदक!

2021 अगस्त 14 / PRJ News ब्युरो/पटना :

 

 

 

स्वतंत्रता दिवस पर इस साल बिहार के 23 पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों को गृह मंत्रालय की ओर से सेवा पदक के लिए चुना गया है। दो पुलिस पदाधिकारियों को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक जबकि डीएसपी सुबोध कुमार समेत 21 को सराहनीय पुलिस सेवा पदक दिया जाएगा। आर्थिक अपराध इकाई, पटना में पुलिस निरीक्षक विपिन कुमार सिंह और पटना जिला बल में पुलिस अवर निरीक्षक राम कुमार सिंह को विशिष्ट सेवा पदक के लिए चुना गया है। बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने विशिष्ट व सराहनीय सेवा पदक पाने वाले पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों को बधाई एवं उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं।

साफ-सुथरी छवि के लिए मिलता है पदक 

सराहनीय सेवा पदक उन पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों को दिया जाता है, जिनकी पुलिस सेवा अब तक बेदाग रही है। इस पदक के लिए कम से कम 18 वर्षों की पुलिस सेवा जरूरी होती है। इस दौरान किसी भी प्रकार का दंड न पाने वाले, आंतरिक वाद-विवाद से दूर रहने वाले साफ-सुथरी छवि वाले पुलिसकर्मियों का नाम प्रस्तावित किया जाता है।

इन्हें मिला सराहनीय सेवा पदक

सुबोध कुमार, डीएसपी मद्यनिषेध, आनंद कुमार सिंह एसआइ सहरसा, राज नारायण यादव एएसआइ पटना, सुधाकर सिंह, एसआइ पूर्णिया, अर्जुन बेसरा एसआइ, रेल कटिहार, शत्रुघ्न पटेल, एसआइ कैमूर, अरुण कुमार झा, एसआइ दरभंगा, कुमार अजीत सिंह, एएसआइ सीआइडी, संजय कुमार यादव, एएसआइ सीआइडी, उमेश पासवान, एएसआइ एसटीएफ, अजय कुमार द्विवेदी, एएसआइ पुलिस मुख्यालय, अमेंद्र कुमार गुप्ता, एएसआइ मद्यनिषेध इकाई, अनिल कुमार सिंह, हवलदार एटीएस, अरुण कुमार सिंह, चालक हवलदार एटीएस, मो. रिजवान अहमद, हवलदार बीएसएपी-10, विनय कुमार सिंह, हवलदार सिवान, लालबाबू सिंह, हवलदार बीएसएपी-14, बलराम सिंह, चालक सिपाही बीएसएपी-10, हरेंद्र कुमार चौधरी, सिपाही नालंदा, रामकुमार शर्मा, सिपाही सीआइडी, संजय कुमार सिपाही गोपालगंज।

नहीं मिला गैलेंट्री पुलिस पदक 

बिहार से इस बार किसी भी पुलिसकर्मी को राष्ट्रपति या पुलिस सेवा के गैलेंट्री पदक के लिए नहीं चुना गया है। दरअसल, गृह मंत्रालय हर साल स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर देश के सभी राज्यों व केंद्रशासित प्रदेश की पुलिस सेवा से जुड़े पदाधिकारियों व कर्मियों के लिए पदक की घोषणा करती है। यह पदक चार श्रेणी में दिए जाते हैं। राष्ट्रपति का गैलेंट्री पुलिस पदक, गैलेंट्री पुलिस पदक, राष्ट्रपति का विशिष्ट सेवा पदक व सराहनीय सेवा पदक।

दारोगा से डीएसपी तक तय किया बेदाग सफर 

सराहनीय सेवा पदक पाने वाले बिहार से एकमात्र डीएसपी सुबोध कुमार फिलहाल मद्य निषेध इकाई पटना में कार्यरत हैं। सूत्रों के अनुसार, इस बार छह डीएसपी के नाम सराहनीय सेवा पदक के लिए भेजे गए थे मगर डीएसपी रैंक में सिर्फ सुबोध कुमार का ही चयन पुरस्कार के लिए किया गया। सुबोध कुमार मूल रूप से गया जिले के गंगटी गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने 94 बैच के दारोगा के रूप में पुलिस सेवा में योगदान दिया था। इस दौरान उन्होंने गोपालगंज, सिवान, वैशाली, समस्तीपुर व एसटीएफ में सेवाएं दीं। वर्ष 2013 में वह इंस्पेक्टर के रूप में प्रोन्नत हुए और मोतिहारी और सिवान टाउन में थानेदार रहे। इसके बाद 2019 में डीएसपी बने और मद्य निषेध इकाई में प्रतिनियुक्त किए गए।

 

Related Articles

Back to top button