Assam

असम वैभव: सम्मान लेने समारोह में नहीं पहुंच पाए थे रतन टाटा, मुख्यमंत्री सरमा ने खुद घर जाकर किया सम्मानित

असम सरकार ने अपने सर्वोच्च सम्मानों के लिए विभिन्न क्षेत्रों के 19 लोगों को चुना था। इनमें कोविड-19 अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों से लेकर उद्यमी और संरक्षणवादी शामिल थे।

2021 फरवरी 18/ PRJ News ब्यूरो, असम:

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने उद्योगपति रतन टाटा को उनके घर जाकर राज्य के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘असम वैभव’ से सम्मानित किया है। रतन टाटा को पहले ये सम्मान 24 जनवरी को गुवाहाटी में राज्य सरकार की ओर से आयोजित कार्यक्रम में सौंपा जाना था। हालांकि, निजी कारणों से वे कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए थे।

असम सरकार ने अपने सर्वोच्च सम्मानों के लिए विभिन्न क्षेत्रों के 19 लोगों को चुना था। इनमें कोविड-19 अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों से लेकर उद्यमी और संरक्षणवादी शामिल थे। उद्योगपति रतन टाटा को राज्य के नवगठित सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘असम वैभव’ सम्मान किया गया। पांच और लोगों को ‘असम सौरव’ और 12 को ‘असम गौरव’ सम्मान प्रदान किया गया था।

अगले साल से लोगों की सिफारिशों पर दिए जाएंगे पुरस्कार
इन पुरस्कारों को लेकर नियमों के अनुसार सर्वोच्च सम्मान असम वैभव हर साल केवल एक ही व्यक्ति को दिया जाएगा। वहीं, असम सौरव तीन लोगों को प्रदान किया जाएगा और असम गौरव 15 लोगों को दिया जाएगा। इस तरह कुल 19 लोगों को सम्मान दिए जाएंगे। हालांकि, इस साल कुछ कारणों से इस संख्या में थोड़ा परिवर्तन देखने को मिला।

अगले साल से ये पुरस्कार लोगों की सिफारिशों के आधार पर प्रदान किए जाएंगे। इसके लिए राज्य सरकार जल्द ही एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत करेगी जहां लोग अपनी पसंद के लोगों का नाम दे सकेंगे। ये सम्मान हर साल दो दिसंबर को असम दिवस के अवसर पर प्रदान किए जाएंगे।

Related Articles

Back to top button