Bihar

BHAGALPUR: नीतीश सरकार की बड़ी फजीहत, सुल्तागंज में दूसरी बार निर्माणाधीन पुल गिरा.. गंगा नदी पर बनाया जा रहा था

2023  जून 04/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:
बिहार के भागलपुर में रविवार को निर्माणाधीन पुल भरभराकर गंगा नदी में गिर गया. इस हादसे का खौफनाक वीडियो सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे पुल गिर गया. शुरुआती जानकारी के मुताबिक हादसे में किसी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है. बताया जा रहा है कि चार साल पहले नीतीश कुमार ने इस पुल का शिलान्यास किया था.

भागलपुर: बिहार में भागलपुर जिले में में बड़ा हादसा हुआ है। गंगा नदी के ऊपर बन रहा पुल रविवार को गिर गया। आज तो पुल गिरा है, इसका एक स्लैब भी एक साल पहले ही टूट गर गिर गया था। खगड़िया के अगुवानी-सुल्तानगंज के बीच गंगा नदी पर इस पुल का निर्माण हो रहा है। लेकिन पुल निर्माण भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। इसी का नतीजा है कि आज ये पुल गंगा नदी में गिर गया। पुल के तीन पिलर भी नदी में समा गए। हालांकि सरकार और विभाग इसकी जांच कराने की बात बोल रहा है। पुल गिरने की घटना का स्थानीय लोगों ने वीडियो बना लिया। यह दूसरी बार है जब पुल गिरा है।

गंगा नदी में शाम करीब 6 बजे गिरा निर्माणधीन पुल

मिली जानकारी के मुताबिक, अगुवानी-सुल्तानगंज रोड पर गंगा नदी के ऊपर पुल बनाया जा रहा है। रविवार की शाम करीब 6 बजे अचानक पुल गिर गया। जिस वक्त हादसा हुआ, उस वक्त काम बंद हो चुका था। इस वजह से पुल पर कोई मजदूर नहीं था। जैसे ही पुल ताश के पत्तों की तरह गंगा में गिरा, नदी के पानी की कई फीट ऊंची लहरें उठीं। सड़क किनारे बैठे लोग सहम गए। पुल गिरने की घटना का स्थानीय लोगों ने वीडियो बना लिया। बता दें, यह पुल पिछले साल भी गिर चुका है।

पुल निर्माण निगम से मांगी रिपोर्ट: DDC भागलपुर

डीडीसी भागलपुर कुमार अनुराग ने बताया कि निर्माणाधीन पुल गिरने की घटना शाम करीब छह बजे हुई है। अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। स्थानीय प्रशासन मौके पर है। हमने पुल निर्माण निगम से इसकी रिपोर्ट मांगी है। बता दें, इस पुल के निर्माण का ठेका एसपी सिंगला कंपनी के पास है। इस पुल का शिलान्यास सीएम नीतीश कुमार ने 2014 में किया था। जबकि पुल का निर्माण 2015 से शुरू हुआ। आज के हादसे से पहले भी ये पुल गंगा नदी में गिर चुका है।

JDU के स्थानीय विधायक ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल

जेडीयू विधायक ललित कुमार मंडल का कहना है कि हम लोग उम्मीद लगाए बैठे थे कि इस पुल का उद्घाटन दिसंबर में हो जाएगा, लेकिन कई कारणों से ऐसा नहीं हो सकेगा। उन्होंने पुल की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब तक जांच नहीं हो जाती तब तक कहना मुश्किल है। लेकिन ये घटना दुर्भाग्‍यपूर्ण है। पुल के दोबारा गिरने से स्थानीय लोगों में नाराजगी है। उनका कहना है कि इस तरीके से लगातार पुल का गिरना सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करता है।

Related Articles

Back to top button