Uttar Pradesh

NOIDA: प्रेमी ने तीसरी मंजिल से प्रेमिका को फेंका, भाई बता शव को लेकर हुआ फरार, जलाने की थी योजना तभी पहुंची पुलिस

2022 नवंबर 09/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:

 

गौरव ने युवती को धक्का दे दिया. बाद में वह नीचे आया और खुद को युवती का भाई बताते हुए उसे अस्पताल ले जाने की बात कहते हुए वहां से भाग निकला. मौके पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि युवती का गौरव नाम का कोई भाई नहीं है. इसके बाद परिजनों की सूचना पर पुलिस मामले की जांच में जुटी और गौरव के नंबर को सर्विलांस पर लगाया. फिर मेरठ में कंकरखेड़ा के पास एंबुलेंस में शीतल के शव के साथ उसे पकड़ लिया गया।

नोएडा में एक सिरफिरे आशिक ने मंगलवार को हैवानियत की सारी हदें पार कर दीं. दोस्ती से इनकार करने पर युवक होशियारपुर बाजार की शर्मा मार्केट से एक 22 साल की युवती की तीसरी मंजिल से धक्का देकर उसकी बॉडी लेकर फरार हो गया. आरोपी को गाजियाबाद मेरठ एक्सप्रेस वे से आरोपी को युवती के शव के साथ गिरफ्तार कर लिया. मिली जानकारी के अनुसार सेक्टर-49 थाना क्षेत्र के होशियारपुर गांव की 22 वर्षीय युवती शीतल होशियारपुर की शर्मा मार्केट में एक इंश्योरेंस कंपनी में नौकरी करती थी.

आरोप है कि गौरव नाम के युवक से उसकी बहस हुई. इसके बाद गौरव ने युवती को धक्का दे दिया. बाद में वह नीचे आया और खुद को युवती का भाई बताते हुए उसे अस्पताल ले जाने की बात कहते हुए वहां से भाग निकला. मौके पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि युवती का गौरव नाम का कोई भाई नहीं है. इसके बाद परिजनों की सूचना पर पुलिस मामले की जांच में जुटी और गौरव के नंबर को सर्विलांस पर लगाया. फिर मेरठ में कंकरखेड़ा के पास एंबुलेंस में शीतल के शव के साथ उसे पकड़ लिया गया.

बिजनौर में शव को जलाने की योजना थी
पुलिस के मुताबिक आरोपी ने बिजनौर में शव को जलाने की योजना बनाई थी. युवती ने आरोपी के खिलाफ 29 सितंबर को भी सेक्टर-49 थाने में मुकदमा दर्ज कराया था. इस आधार पर पुलिस ने गौरव को जेल भी भेजा था. जेल से वापस आने के बाद उसने इस घटना को अंजाम दिया है. आरोपी ने बताया कि उसने युवती के साथ शादी की थी.

आरोपी के मुताबिक 5 साल तक एक कंपनी में किया काम

गौरव ने बताया कि हम दोनों 2 वर्ष पूर्व एक ही इंश्योरेंस कंपनी के ऑफिस में कार्य करते थे. जहां हम दोनों ने लगातार 05 वर्ष तक एक साथ कार्य किया था. दोनों एक साथ लिव इन में रहते थे. पूर्व में किसी बात को लेकर दोनो में विवाद हो गया था, जिससे युवती कई महीने से आरोपी से बात नहीं करना चाहती थी, जिसको लेकर युवक ने घटना को अंजाम दिया. एडीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी को पकड़ लिया है. इस मामले में परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है. आरोपी के खिलाफ 302, 201 और एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

Related Articles

Back to top button