Chhattisgarh

बृजमोहन अग्रवाल : स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के साथ वहां !

पंडरी बस स्टैंड को भी बिलासपुर, रायगढ़ के तरफ जाने वाली बसों के लिए चालू रखा जाना चाहिए * शारदा चौक तत्यापारा सड़क चौड़ीकरण का काम शीघ्र स्वीकृत करें * स्काईवॉक पर सरकार तत्काल निर्णय लें व अटल एक्सप्रेसवे को शीघ्र चालू करें!

2021 अगस्त 20 / PRJ News ब्युरो रायपुर:

भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज श्री बालाजी स्वामी ट्रस्ट श्री दूधाधारी मठ अंतरराज्यीय बस स्टैंड के उद्घाटन के अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि नया बस स्टैंड तो आज से चालू हो रहा है पर पंडरी स्थित पुराने बस स्टैंड को भी बस स्टैंड के रूप में ही चालू रखना चाहिए जिससे बिलासपुर, रायगढ़, कवर्धा,अंबिकापुर, जशपुर व सरगुजा जाने वाली राज्य के अंदर की बसें वहीं से गंतव्य की ओर जा सके और इस अंतरराज्यीय बस स्टैंड से राज्य से बाहर जाने वाली सभी बस का परिचालन हो।

श्री अग्रवाल ने कहा कि रायपुर शहर में ट्रैफिक की बड़ी समस्या रहती है। शहर में चारों तरफ सड़कों पर रिंग रोड में बेतरतीब बसें खड़ी रहती है जिसकी जहां मर्जी वहां पर खड़ी कर देते हैं।
इस बस स्टैंड के उद्घाटन के साथ यह तय होना चाहिए की बसे बस स्टैंड में ही खड़ी हो और यहीं से गंतव्य की ओर रवाना हो।

श्री अग्रवाल ने मुख्यमंत्री से मांग की कि शारदा चौक से तात्यापारा सड़क चौड़ीकरण के लिए राशि की शीघ्र व्यवस्था होनी चाहिए। सरकार को लोन की गारंटी लेकर नगर निगम को राशि उपलब्ध करवानी चाहिए जिससे यह सड़क का चौड़ीकरण सुनिश्चित हो आधे रायपुर शहर को जाम से निजात मिल सके।

श्री अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहां की शहर में निर्माणाधीन स्काईवॉक, एक्सप्रेस-वे पर सरकार को शीघ्र निर्णय लेना चाहिए आज ढाई साल से अधिक समय होने के बाद भी सरकार इस पर कोई निर्णय नहीं ले पाई है।

अग्रवाल ने कहा कि रायपुर में 100 बिस्तर के मठपुरैना, गुढ़ियारी व बिरगांव में 3 हॉस्पिटल बनने के लिए बजट में प्रावधान किया गया था। यहां हॉस्पिटल का संचालन पीपीपी मोड में होना था। राज्य सरकार इन तीनों स्थान पर शीघ्र हॉस्पिटल का निर्माण कर हॉस्पिटल को चालू कराने का निर्णय लें।

श्री अग्रवाल ने रायपुर सहित प्रदेश भर में खोले गए स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल को लेकर अपनी बात रखते हुए कहा कि अंग्रेजी मीडियम स्कूल खोलने का मैं स्वागत करता हूं पर इसी स्कूल के नाम से यहां पर संचालित हिंदी मीडियम स्कूलों को बंद नहीं किया जाना चाहिए दोनों स्कूल उसी कैंपस में अलग-अलग पाली में चलाया जाना चाहिए अंग्रेजी स्कूल के नाम पर हिंदी मीडियम स्कूलों को बंद नहीं किया जाना चाहिए इस विषय पर सरकार को निर्णय लेना चाहिए।

Related Articles

Back to top button