Health

CBI ने शुरू की दिल्ली CM आवास मामले में जांच, AAP ने कहा- अब भी कुछ नहीं निकलेगा

2023/Sept/27 PRJ News Bureau

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास के रेनेवोशन में फिजूलखर्ची या वित्तीय अनियमितताओं की सीबीआई ने बुधवार से जांच शुरू कर दी है. रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई ने दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग से सीएम आवास के रेनोवेशन से संबंधित सभी दस्तावेज 3 अक्टूबर तक जमा करने को कहा है. सीएम आवास के रेनोवेशन में करीब 45 करोड़ रुपये खर्च हुए थे. इस बीच आम आदमी पार्टी (AAP) का बयान भी सामने आया है. AAP ने कहा कि बीजेपी चाहें जितनी जांच करा ले, पहले कुछ नहीं निकला था. अब भी कुछ नहीं निकलेगा.

इसी साल मई में दिल्ली के एलजी वीके सक्सेना ने सीबीआई डायरेक्टर को चिट्ठी लिखकर इसकी जांच की मांग की थी. दिल्ली सीएम आवास में कथित घोटाले की सीबीआई जांच के गृह मंत्रालय ने आदेश दिए हैं. इस मामले में गृह मंत्रालय द्वारा पहले ही सीएजी द्वारा एक विशेष ऑडिट का आदेश दिया जा चुका है.

दिल्ली सीएम का आवास 6- फ्लैग स्टाफ रोड पर स्थित है. सीबीआई ने PWD विभाग से निविदा जारी करने की सूचना (एनआइटी) में मुख्यमंत्री के आवास में परिवर्तन के संबंध में समय-समय पर सूचनाएं जारी करने की जानकारी मांगी है. बताया जा रहा है कि प्रारंभिक जांच कोई आपराधिक मामला नहीं है, बल्कि ये आपराधिक जांच की शुरुआत है. अगर गड़बड़ी के सबूत मिलेंगे, तो सीबीआई केस दर्ज करेगी.

 

दरअसल, दिल्ली में बीजेपी यह आरोप लगाती आई है कि सीएम के बंगले के रेनोवेशन पर 45 करोड़ रुपये खर्च किये गये थे. बीजेपी दावा करती आई हैं कि रेनोवेशन के दौरान लाखों रुपये के पर्दे और मार्बल लगाए गए थे.

आम आदमी पार्टी ने क्या कहा?

AAP ने कहा, ”बीजेपी ने आम आदमी पार्टी को खत्म करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी है. आज पूरे देश में सिर्फ आम आदमी पार्टी है जो शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतरीन काम करके वोट मांग रही है, लेकिन बीजेपी नहीं चाहती है गरीबों को अच्छी शिक्षा और बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं मिले. इससे बीजेपी की धर्म और जाति की राजनीति हार जाएगी.’

‘पार्टी ने कहा, ”इसी कारण देश के सबसे बेहतरीन शिक्षा और स्वास्थ्य मंत्री मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को जेल में डाला गया. अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की घेराबंदी करने के लिए सारी जांच एजेंसियों को लगा दिया गया है, लेकिन दिल्ली के दो करोड़ लोगों का प्यार और आशीर्वाद अरविंद केजरीवाल के साथ है.”

 

AAP ने कहा, ”अब तक इन्होंने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ 50 से ज्यादा केस किए और जांच कराई. किसी में कुछ नहीं निकला. इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा. बीजेपी चाहे जितनी मर्जी जांच करवा ले अरविंद केजरीवाल आम आदमी के हित की लड़ाई लड़ते रहेंगे. अरविंद केजरीवाल ने कसम खाई है, वह भारत को दुनिया का नंबर एक देश बनाकर रहेंगे. इसके लिए हर कीमत चुकाने को तैयार हैं.”

BJP ने कहा- सीबीआई जांच का स्वागत

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेव ने कहा, “सीएम अरविंद केजरीवाल के शानदार राजमहल की सीबीआई जांच शुरू होने का बीजेपी स्वागत करती है. बीजेपी का पहले दिन से कहना था कि इस शानदार बंगले की मरम्मत में बहुत ज्यादा करप्शन किया गया है. नियमों का उल्लंघन किया गया है. आज जब सीबीआई की जांच शुरू हुई है, तो हम इसका स्वागत करते हैं. उम्मीद है सच्चाई सामने आएगी.”

 

दिल्ली सीएम हाउस को लेकर बीजेपी ने किए थे ये दावे

दिल्ली बीजेपी ने दिल्ली सीएम हाउस को लेकर कई आरोप लगाए हैं. बीजेपी के मुताबिक, कोविडकाल के पीक के 16 माह के दौर में अरविन्द केजरीवाल द्वारा अपने घर और ऑफिस पर लगभग 45 करोड़ रुपये खर्च करना उनकी संवेदनहीनता का एक बड़ा प्रमाण है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा था कि आवास के लिए खरीदे गए आठ नए पर्दों में से एक की कीमत 7.94 लाख रुपये से अधिक है जबकि सबसे सस्ता पर्दा 3.57 लाख रुपये का है. पात्रा ने कहा दस्तावेजों का हवाला देते हुए कहा कि 1.15 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के मार्बल (संगमरमर) वियतनाम से लाए गए थे, जबकि पूर्व-निर्मित लकड़ी की दीवारों पर 4 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे

. कांग्रेस ने भी लगाए आरोप

कांग्रेस ने भी केजरीवाल पर हमला किया और दावा किया था कि उनके आवास पर खर्च की गई राशि 171 करोड़ रुपये थी, न न कि पहले बताई गई 45 करोड़ रुपये. कांग्रेस ने कहा कि क्योंकि उनकी सरकार को मुख्यमंत्री आवासीय परिसर के विस्तार के लिए जिन अधिकारियों के घरों को ध्वस्त करना पड़ा या खाली करना पड़ा, उनके लिए सरकार को अतिरक्त फ्लैट खरीदने पड़े.

 

Related Articles

Back to top button