BiharDarbhanga

बिहार में मोहर्रम एवं आगामी त्योहारों को लेकर मुख्य सचिव ने की बैठक !

2021 अगस्त 17/ PRJ News ब्युरो/ दरभंगा :

मोहर्रम एवं श्रावणी पूजा के साथ-साथ आगामी त्याहारों में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा को लेकर गृह विभाग, बिहार सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन का अनुपालन सख्ती से कराने को लेकर मुख्य सचिव, बिहार श्री त्रिपुरारी शरण की अध्यक्षता में वर्चुअल बैठक आयोजित की गयी।
जिसमें बिहार सरकार के विकास आयुक्त, अपर मुख्य सचिव गृह विभाग, अपर पुलिस महानिदेशक (निगरानी), अपर पुलिस महानिदेशक (विधि), सभी प्रमण्डलीय आयुक्त, सभी पुलिस महानिरीक्षक, सभी पुलिस उप महानिरीक्षक, जिलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक उपस्थित थे।
बैठक को सम्बोधित करते हुए अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग, बिहार सरकार चैतन्य प्रसाद ने कहा कि कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव को लेकर गृह विभाग, बिहार सरकार द्वारा 04 अगस्त 2021 को जारी गाइड लाइन में स्पष्ट कहा गया है कि सभी धार्मिक स्थल बन्द रहेंगे तथा सभी प्रकार के धार्मिक, सामजिक, सास्कृतिक एवं मनोरंजन से संबंधित आयोजन प्रतिबंधित रहेगा और यह आदेश 25 अगस्त तक के लिए जारी है। इसलिए मंदिर, मस्जिद, चर्च एवं गुरूद्वारा सहित सभी धार्मिक स्थल बन्द रहेंगे। यहाँ तक की कोई जुलूस या प्रर्दशन का आयोजन नहीं किया जाएगा।
बैठक में सभी जिलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक को जिला, अनुमण्डल एवं थाना स्तर पर शांति समिति का बैठक आयोजित कर धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों, मोहर्रम समिति एवं पूजा समिति को इस तथ्य से अवगत करा देने का निर्देश दिया गया।
अपर पुलिस महानिदेशक (निगरानी) श्री जितेन्द्र कुमार ने विगत वर्षों में त्योहार के अवसर पर घटित घटनाओं से अवगत कराते हुए उन स्थलों पर संबंधित जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को विशेष एहितियात बरतने का निर्देश दिया।
उन्होंने कहा कि पटना, भागलपुर, जमुई, सिवान और दरभंगा को विशेष बल उपलब्ध करायी जा रही है।
पंचायत चुनाव में दो समुदाय के उम्मीदवारों के खड़े होने पर धर्म एवं जाति के आधार पर मत प्राप्त करने के उद्देश्य से भी इन अवसरों पर समुदाय विशेष के प्रतिनिधि द्वारा विवाद उत्पन्न करने का प्रयास किया जाता है। इसलिए स्थानीय पदाधिकारियों एवं कर्मियों के माध्यम से आसूचना का संकलन करते रहने की आवश्यकता है।
बैठक को सम्बोधित करते हुए अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग ने कहा कि कोविड-19 के गाइडलाइन के अनुसार कोई जुलूस नहीं निकलेगा, कोई शस्त्र प्रर्दशन नहीं होगा, सार्वजनिक स्थलों पर प्रसाद का वितरण नहीं किया जाएगा ।
विकास आयुक्त,बिहार सरकार आमिर सुबहानी ने कहा कि मुर्हरम पर्व शिया एवं सुन्नी समुदाय द्वारा अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। शिया समुदाय द्वारा मातम किया जाता है, जबकि सुन्नी समुदाय द्वारा ताजिया निकाला जाता है। उन्होंने शिया समुदाय के विशेष क्षेत्र से अवगत करते हुए संबंधित वरीय पुलिस अधीक्षक को उक्त स्थलों के प्रतिनिधि से बात कर उन्हें गाइड लाइन से अवगत करा देने को कहा।
दरभंगा से प्रभारी वरीय पुलिस अधीक्षक-सह-नगर पुलिस अधीक्षक अशोक प्रसाद के द्वारा बताया गया कि जिला शांति समिति की बैठक कर ली गयी है तथा थाना स्तर से भी सभी कमिटी को कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के लिए जारी गाइड लाइन से अवगत करा दिया गया है। शहरी क्षेत्र में कुछ मंदिर खुला पाया गया था, जिन्हें चिन्ह्ति कर उनके संचालकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।
जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने जानकारी देते हुए कहा कि 16 अगस्त को जिला शांति समिति की बैठक कर ली गयी है तथा शहरी क्षेत्र के खुले पाये गये मंदिरों के संचालकों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। ताजिया के लिए जुलूस निकालने हेतु लाइसेंस निर्गत करने पर सख्त मनाही की गयी है। समाचार के माध्यम से भी कोविड 19 के लिए जारी गाईडलाइन से सभी को अवगत करा दिया गया है।
मुख्य सचिव, बिहार श्री त्रिपुरारी शरण ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिला स्तर पर लगातार आसूचना का संग्रहण किया जाता रहें तथा धार्मिक कमिटियों एवं सामाज के स्थानीय प्रतिनिधियों से संवाद बनाये रखा जाए।
सभी जिले में शांति समिति की बैठक कर ली जाए तथा मुर्हरम एवं आगामी पर्व के अवसर पर पूरी एहतियात बरती जाए। कभी-कभी छोटी सी घटना बड़ी घटना का रूप ले लेती है और ऐसी अप्रिय घटना से सामाज भी बदनाम होता है। इसलिए आसूचना प्राप्त करते रहना सबसे ज्यादा जरूरी है।
उन्होंने कहा कि पदाधिकारियों के द्वारा दिये गये फीडबैक से ऐसा लगता है कि कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं होगी और मुर्हरम सहित सभी त्योहार शांति पूर्वक भाईचारे के साथ मनायी जाएगी।
दरभंगा से आयुक्त, दरभंगा प्रमंडल, दरभंगा श्री मनीष कुमार, पुलिस महानिरीक्षक, दरभंगा क्षेत्र श्री अजिताभ कुमार, जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम व प्रभारी वरीय पुलिस अधीक्षक श्री अशोक प्रसाद बैठक में ऑनलाइन जुड़े थे।

Related Articles

Back to top button