AssamGuwahati

ASSAM : गुवाहाटी में 1700 करोड़ रुपए की सात परियोजनाओं का सीएम ने किया शुभारंभ

2023 जनवरी 07/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:

असम सरकार के विकास के लिए एक दिन  के तहत  मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा ने वृहस्पतिवार को कामरूप (मेट्रो) जिले में विभिन्न स्थानों पर लोक निर्माण (भवन और राष्ट्रीय राजमार्ग) विभाग के तहत कुल सात बुनियादी ढांचा विकास परियोजनाओं के शिलान्यास और भूमि पूजन समारोह में भाग लिया।

साथ ही लगभग 1,777 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से शुरू की जा रही सात परियोजनाओं में 41.32 करोड़   रुपए की लागत से खारघुली में नया राजभवन, 44.26 करोड़ रुपए की लागत से 800 लोगों के बैठने की क्षमता वाला एक सभागार, 544.44 करोड़ रुपए की लागत से पान बाजार में एक पुलिस रिजर्व, 58.86 करोड़ रुपए की लागत से रूपनगर में एकीकृत उपायुक्त कार्यालय, 185 करोड़ रुपए की लागत से खानापाड़ा में 5,000 लोगों के बैठने की क्षमता का सभागार, 95 करोड़ रुपए की लागत से खानापाड़ा में पुलिस आयुक्तालय भवन  और 808 करोड़ रुपए की लागत से बेतकुची में एकीकृत निदेशालय परिसर शामिल हैं। राजभवन का निर्माण 18 महीने की निर्धारित समय-सीमा के भीतर पूरा किया जाएगा,जबकि बाकी परियोजनाओं के लिए 24 से 30 महीने की समय सीमा निर्धारित की गई है।

परियोजना स्थलों पर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गुवाहाटी के निवासियों के लिए एक ऐतिहासिक दिन था। कारण कि उपरोक्त सात बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के पूरा होने पर पूर्वोत्तर का सबसे बड़ा शहर गुवाहाटी दक्षिण पूर्व एशिया का प्रवेश द्वार बन जाएगा। उन्होंने कहा कि आज जिन सात परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, वे गुवाहाटी की अर्थव्यवस्था, उद्योग, सांस्कृतिक मामलों और पर्यटन के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नया राजभवन पूरा हो जाने के बाद देशभर में सबसे शानदार राज्यपाल के निवास के रूप में यह खड़ा हो जाएगा। असम सरकार अनुबंध समझौते के अनुसार परियोजना को 18 महीने की समय-सीमा के भीतर पूरा करना सुनिश्चित करेगी।

पानबाजार में एक पुनर्विकसित गुवाहाटी पुलिस रिजर्व कॉम्प्लेक्स और पुलिस आयुक्त के लिए एक नया कार्यालय भवन शहर में अपने आधिकारिक दायित्वों और कर्तव्यों को कुशलतापूर्वक और प्रभावी ढंग से पूरा करने में पुलिस विभाग के लिए काफी मददगार साबित होगा। सीएम ने भरोसा दिलाया कि लगातार बढ़ती आबादी वाले गुवाहाटी जैसे शहर में कानून और व्यवस्था, यातायात प्रबंधन, नए जमाने के तकनीकी अपराध आदि के रख-रखाव में कई चुनौतियां हैं, मुख्यमंत्री ने पुनर्विकसित पुलिस रिजर्व और पुलिस आयुक्तालय कार्यालय पर अपने इच्छित उद्देश्यों की पूर्ति करने और गुवाहाटी के लिए एक अनुकूल छवि बनाने में मदद करेगा। रूपनगर और बेतकुची में क्रमशः एकीकृत उपायुक्त कार्यालय और एकीकृत निदेशालय परिसर के स्थल पर भूमि-पूजन में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री डॉ. शर्मा ने कहा कि सुशासन और कुशल समय-प्रबंधन को बढ़ावा देने के अलावा कार्यालयों को उनके नए स्थान पर स्थानांतरित करने के बाद मुक्त किए गए स्थानों को सार्वजनिक पार्कों और उद्यानों आदि के रूप में जनता के कल्याण के लिए उपयोग किया जाएगा।

खानापाड़ा में 185 करोड़ रुपए की लागत से 5,000 की बैठने की क्षमता वाला सभागार और 44.26 करोड़ रुपए की लागत से 800 की बैठने की क्षमता वाला श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र परिसर में बनने वाले दो अत्याधुनिक सभागारों पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ये उस कमी को भरेंगे जो समय-समय पर बड़ी संख्या में दर्शकों की उपस्थिति वाले कार्यक्रमों के आयोजन के समय महसूस की जा रही थी। मुख्यमंत्री ने आज रखी गई परियोजनाओं के शिलान्यास को समय पर पूरा करने के लिए कार्यान्वयन एजेंसियों और विभागों को सरकार की ओर से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया।

उन्होंने आशा व्यक्त की कि एक बार विकास के विभिन्न चरणों में चल रही ये और अन्य परियोजनाएं पूरी हो जाने के बाद गुवाहाटी की जनता की अधिकांश शिकायतें कम हो जाएंगी। सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री के साथ आज मंत्री बिमल बोरा और अतुल बोरा भी थे। राज्यपाल जगदीश मुखी और उनकी पत्नी प्रेम मुखी नए राजभवन के भूमिपूजन स्थल पर मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button