Bihar

मुख्यमंत्री नितीश कुमार का जीवन परिचय

नितीश कुमार ने 2005 से 2014 तक बिहार के मुख्यमंत्री और 2015 से 2017 में सीएम के रूप में एक संक्षिप्त कार्यकाल के बाद, उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और एक बार फिर एनडीए से हाथ मिला लिया । नीतीश ने 2022 में आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

2022 सितंबर 04/PRJ न्यूज़ ब्यूरो:

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से अपना गठबंधन खत्म करने के बाद नितीश कुमार ने 9 अगस्त 2022 को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव के साथ मिलकर बिहार में दोबारा से सरकार बनाने का दावा पेश किया और 10 अगस्त 2022 को उन्होंने दोबरा से बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। साथ ही तेजस्वी यादव ने भी बिहार के उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

नीतीश कुमार का जन्म और परिवार :

  • बिहार में जन्मे नीतीश के पिता ने उस समय भारत की स्वतंत्रता कि लड़ाई मे भाग लिया था और साथ में ही वो एक आयुर्वेदिक वैद्य भी थे.
  • साल 1973 में ये विवाह बंधन में बंधे. इस विवाह से इन्हें एक बेटा हुआ था, जिसका नाम निशांत कुमार है. नीतीश की पत्नी एक अध्यापिका हुआ करती थी और साल 2007 में इनकी पत्नी का स्वर्गवास दिल्ली में हो गया था. वहीं इस वक्त ये अपने बेटे के साथ रहते हैं.

    नीतीश कुमार से जुड़ी जानकारी :

    • नीतीश को सुशासन बाबू के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इन्होंने अपने राज्य के सुशासन को सही करने के लिए कई अहम फैसले लिए थे.
    • इनके पिता कविराज भी राजनीति में काफी सक्रिय हुआ करते थे और वो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) का हिस्सा भी थे. हालांकि लोकसभा चुनाव में इनके पिता को आईएनसी पार्टी द्वारा टिकट नहीं दिया गया था, जिसके कारण इनके पिता जनता पार्टी से जुड़ गए थे.
    • नीतीश कुमार ने बख्तियारपुर के श्री गणेश हाई स्कूल से अपनी 12 वीं कक्षा तक की पढ़ाई कर रखी है और 12 वीं पास करने के बाद इन्होंने बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में दाखिला लिया था. इस कॉलेज से इन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री सन् 1972 में प्राप्त की थी.

प्रथम बार बने बिहार के मुख्यमंत्री :

साल 2000 में ये पहली बार अपने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे. हालांकि राजनीतिक कारणों के चलते इन्हें अपना ये पद केवल सात दिनों के अंदर ही छोड़ना पड़ा था. इन्होंने इस पद को 3 मार्च, साल 2000 में संभाला था और इसी साल 10 मार्च को इन्हें ये पद छोड़ना पड़ा था. ये पद छोड़ने के बाद इन्हे फिर से कृषि मंत्री बना दिया गया था और ये एक साल तक कृषि मंत्री बने रहे थे.

राजनीतिक यात्रा

1971: राम मनोहर लोहिया की युवा शाखा, समाजवादी युवा जन सभा के सदस्य बने।
1974: जेपी आंदोलन में शामिल होने पर उन्हें आंतरिक सुरक्षा अधिनियम के तहत गिरफ़्तार किया गया।
1975: में आपातकाल के समय गिरफ़्तारी हुई।
1985: में बिहार विधान सभा के सदस्य बने।
1989: बिहार में जनता दल के महासचिव नियुक्त किए गए साथ ही पहली बार संसद सद्स्य के रूप में चुने गए।
1990: में केन्द्रीय कृषि और सहयोग राज्य मंत्री बने।
1999: में केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री बने।
2000: में वह केंद्रीय कृषि मंत्री बने। वह पहली बार केवल आठ दिन के लिए बिहार के मुख्यमंत्री बने, क्योंकि वह बहुमत साबित नहीं कर पाए।
2001: में वह केंद्रीय रेल मंत्री बने।
2005: उन्होंने भाजपा के समर्थन से दूसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।
2010: तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।
2014: भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने पर उनकी पार्टी को लोकसभा चुनावों में करारी हार का सामना करना पड़ा। जिसके कारण उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा।
2015: इसी वर्ष उन्हें बिहार के पांचवे मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गयी थी और वह गठबंधन सरकार थी, जिसे लोकप्रिय रूप से महागठबंधन कहा जाता था। जिसमें राष्ट्रीय जनता दल, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और जनता दल (संयुक्त ) पार्टियां शामिल थीं।
2017: में उन्होंने महागठबंधन तोड़ दिया और 27 जुलाई 2017 को भाजपा के समर्थन से बिहार के छठे मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।
2022: बिहार में जारी सियासी संकट के बीच नितीश कुमार ने 9 अगस्त 2022 को बिहार में भाजपा के साथ अपना गठबंधन समाप्त कर दिया और राज्यपाल फागू चौहान को मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा सौंपने के बाद 160 विधायकों के समर्थन का प्रस्ताव पत्र प्रस्तुत करके बिहार में दोबारा से सरकार बनाने का दावा पेश किया।

व्यक्तिगत जीवन :

जन्मतिथि 1 मार्च 1951
आयु (2017 के अनुसार) 66 वर्ष
जन्मस्थान बख्तियारपुर, बिहार, भारत
राशि मीन
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर बख्तियारपुर, बिहार, भारत
स्कूल/विद्यालय श्री गणेश हाई स्कूल, बख्तियारपुर,पटना
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय बिहार कॉलेज ऑफ अभियांत्रिकी, पटना साइंस कॉलेज, भारत
शैक्षिक योग्यता स्नातक विद्युत अभियांत्रिकी (बीएससी इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग)
परिवार पिता – कविराज राम लखन सिंह (आयुर्वेद)
माता– परमेश्वरी देवी
जाति अनुसूचित जनजाति (एसटी – कुर्मी)
पता 1 ऐनी मार्ग, पटना, बिहार (बिहार के मुख्यमंत्री)
गांव – हकीकतपुर, पीओ – बख्तियारपुर, जिला – पटना, बिहार (स्थायी पता)
शौक/अभिरुचि पढ़ना
विवाद . एनडीए द्वारा प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के नाम की घोषणा के बाद वर्ष 2014 आम चुनाव से पहले नितीश कुमार ने भाजपा के साथ अपना गठबंधन तोड़ दिया।
. वर्ष 2015 में, लालू प्रसाद और कांग्रेस के साथ गठबंधन से बिहार चुनाव में आलोचना में रहे।
. बिहार चुनाव के दौरान एक तांत्रिक से मिलने की वीडियो वायरल होने पर भी वह विवादों में रहे।
. 2010 में उनके द्वारा उत्पादक मंत्री जमशेद अशरफ को बर्खास्त करने के बाद, अशरफ ने उन पर आरोप लगाया कि वह शराब पर करों की चोरी में शामिल हैं जिसके कारण 500 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है।
. बिहार के मुख्यमंत्री की नियुक्ति और बर्खास्तगी में जीतन राम मांझी ने नितीश कुमार पर विवादास्पद टिप्पणियां की थीं।
. राजद और कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने पर उन्होंने 24 घंटे में बिहार में सरकार बनाई और भाजपा का समर्थन किया।
  • 1985 में, वह पहले स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में बिहार विधान सभा के सद्स्य चुने गए थे।
  • उनके बारे में दो आत्मकथाएँ लिखी गई : शंकरन ठाकुर द्वारा “नीतीश कुमार और बिहार का उदय”, अरुण सिन्हा द्वारा “एकल आदमी: बिहार के नीतीश कुमार का जीवन और समय।”
  • उनका इकलौता पुत्र निशांत कुमार बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बीआईटी), मेसरा से स्नातक है।
  • 1998 से 2004 तक केंद्रीय मंत्री के रूप में उनका कार्य बेहद सराहनीय रहा था क्योंकि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान रेलवे की स्थिति में सुधार किया था।
  • निशांत कुमार अपने पिता के मुकाबले तीन गुना अमीर हैं।
  • उन्हें “बिजनेस रिफॉर्मर ऑफ द ईयर” और “द बेस्ट पॉलिटिशियन ऑफ द इयर” पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
  • उनके पिता कविराज राम लखन सिंह भारत के स्वतंत्रता संग्राम में स्वतंत्रता सेनानी थे।
  • उनके पिता ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) को छोड़ दिया और जनता पार्टी में शामिल हो गए, क्योंकि उन्हें 1952 के आम चुनावों में चुनाव लड़ने का टिकट नहीं दिया गया था।
  • उन्होंने बिहार में आरटीआई अधिनियम के तहत “जानकारी योजना” का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण प्रस्तुत किया।
  • 26 जुलाई 2017 को, उन्होंने राजद और कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।
  • 27 जुलाई 2017 को, बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के 24 घंटे के बाद, नीतीश कुमार ने भाजपा और एनडीए के समर्थन से बिहार के 6वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।
  • भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से अपना गठबंधन खत्म करने के बाद नितीश कुमार ने 9 अगस्त 2022 को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव के साथ मिलकर बिहार में दोबारा से सरकार बनाने का दावा पेश किया और 10 अगस्त 2022 को उन्होंने दोबरा से बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। साथ ही तेजस्वी यादव ने भी बिहार के उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

धन संबंधित विवरण

आय 1 लाख (भारतीय रुपए) + अन्य भत्ते
संपत्ति (लगभग)
(2014 के अनुसार)
2 करोड़ (भारतीय रुपए)

Related Articles

Back to top button