AssamJorhat

जोरहाट : मारवाड़ी ठाकुरबाड़ी में प्रतिकूल मौसम के बावजूद बच्चों ने सजाई रंगोली

देश के प्रमुख मंदिरों का दिखा दर्शन, दीपावली की शाम तस्वीरें सामने आने के बाद देखने की मची होड़

2022 अक्टूबर 25 / PRJ न्यूज़ ब्यूरो,जोरहाट:

दीपावली के मौके पर गत वर्ष से शुरू की गयी परंपरा को जारी रखते हुए श्री मारवाड़ी ठाकुरबाड़ी परिसर में एक बार फिर रंगोली के रंग सोमवार की  शाम बिखरे नज़र आये। खराब मौसम के बीच विपरीत परिस्थितियों में समाज के बच्चों ने इस कार्य को अंजाम दिया। परिसर में कुल 32 फीट लंबे और 32 फीट चौड़े दायरे में भारत के नक्शे को उकेरते हुए इसमें पांच प्रमुख मंदिर रंगोली में दर्शाए गए है।

अरविंद जैन और श्रवण मालानी के नेतृत्व में सूर्य नारायण तापड़िया, प्रियांशी मालानी, तेजस सोनी, पलक बाहेती, हर्षिका राठी, केसर बाहेती, आयुषी अग्रवाल, ऋषिका अग्रवाल, दिशिता अग्रवाल व ध्वनि सोमानी ने अथक परिश्रम से रंगोली की चमक बिखेरी। विशेषज्ञ के रूप में आर्ट टीचर राहुल सिंह, अंशुमान दास, कबीर शील, शायन कौर व रोहित पोद्दार का साथ इन बच्चों को मिला। रंगोली की थीम पर जानकारी देते हुए अरविंद जैन ने बताया कि इस बार की रंगोली पिछले साल के मुकाबले कहीं ज़्यादा विस्तृत है। कामाख्या मंदिर व जगन्नाथ मंदिर सहित देश के हर कोने से मंदिरों को रंगोली में जगह दी गयी है।

बारिश को देखते हुए इस बार प्राकृतिक परिवेश से युक्त शेड में इस रंगोली को तैयार किया गया है। दीपावली की शाम चटख रंगों से साकार हो उठी यह रंगोली अब सभी के आकर्षण का केंद्र होगी। शाम को इसकी तस्वीरें सामने आने के बाद लोगों में इसके दीदार की बेसब्री देखी गयी। हालांकि मौसम यहां भी मुसीबत की वजह बना हुआ है।

उल्लेखनीय है कि रंगोली भारत की सांस्कृतिक परंपराओं में सबसे प्राचीन लोक चित्रकला है। इस चित्रकला के तीन प्रमुख रूप मिलते है, भूमि रेखांकन, भित्ति चित्र और कागज़ तथा वस्त्रों पर चित्रांकन। इसमें सबसे अधिक लोकप्रिय भूमि रेखांकन हैं, जिन्हें अल्पना या रंगोली के रूप में जाना जाता है। रंगोली का उद्देश्य धन और सौभाग्य की देवी लक्ष्मी का स्वागत करना है। रंगोली का उद्देश्य सजावट से परे कहीं ज़्यादा व्यापक है।

इस बीच मारवाड़ी ठाकुरबाड़ी सचिव सुरेंद्र गोयल ने बताया कि गत वर्ष से शुरू इस स्वस्थ परंपरा को बरकाकर रखा गया है। गोयल ने इस कार्य में शामिल सभी लोगों विशेष तौर पर अरविंद जैन की तारीफ की। गोयल ने बताया कि दीपावली पर ठाकुरबाड़ी को हमेशा की तरह प्रकाशमान किया गया है। मारवाड़ी ठाकुरबाड़ी के अध्यक्ष बिमल बजाज व सचिव गोयल ने सभी समाजबंधुओं को दीपावली की शुभकामनाएं दी है।

Related Articles

Back to top button