BiharDarbhanga

DARBHANGA : कृमि से छुटकारा सेहत मंद भविष्य हमारा

2023 मार्च 16 / PRJ न्यूज़ ब्यूरो:

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का उद्घाटन राजकीय वंशी दास कन्या मध्य विद्यालय एवं माउंट समर निजी विद्यालय में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. ए.के. मिश्रा द्वारा बच्चों को अल्बेंडाजोल का टेबलेट खिलाकर किया गया।
डॉ. मिश्रा ने बताया कि एक वर्ष से ऊपर उन्नीस वर्ष तक के सभी बच्चों को आज कृमि की दवा खिलाई जाएगी, अगर कोई बच्चा आज छूट जाता है, तो उसे 20 मार्च 2023 को माप अप राउंड के दौरान खिलाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम साल में दो बार चलाया जाता है, जिसमें 01 वर्ष से 02 वर्ष तक के बच्चों को आधा टेबलेट यानी 200 एम.जी एवं 02 वर्ष से ऊपर बच्चों को एक टेबलेट 400 एम.जी का चूर्ण बनाकर और चबाकर खिलाया जाना है, इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। उन्होंने कहा सभी आंगनवाड़ी केन्द्र एवं विद्यालयों में इसकी दवा खिलाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि सभी आशा का दायित्व है कि अपने क्षेत्र के सभी बच्चों को दवा खिला दिया जाए, इसके लिए सभी आर.बी.एस.के. के डॉक्टर एवं सभी सरकारी अस्पतालों में ध्यान रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए जिला को 23,02,938 टैबलेट उपलब्ध कराया गया है, जिले के सभी आंगनवाड़ी केन्द्र और सभी विद्यालय को दवा उपलब्ध कराया गया है।
इसके साथ ही वंशी दास कन्या मध्य विद्यालय में उपस्थित जिला शिक्षा पदाधिकारी समर प्रताप सिंह ने बताया कि सभी विद्यालय यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी बच्चों को कृमि की दवा दे दी गई है, क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवश्यक है, स्वस्थ शरीर में ही स्वास्थ्य मानसिक विकास होता है। उन्होंने कहा कि सभी छात्र-छात्राएं पढ़ाई के साथ अपने स्वास्थ्य के प्रति अवश्य ध्यान रखेंगे।
कार्यक्रम में उपस्थित प्रधानाचार्य एवं शिक्षक की प्रशंसा करते हुए उन्होंने बताया कि इस विद्यालय की राष्ट्रीय कार्यक्रमों में अग्रिम भूमिका रहती है।
वही निजी विद्यालय माउंट समर कान्वेंट स्कूल में आयोजित समारोह में डायरेक्टर राघवेन्द्र कुमार द्वारा सभी मुख्य अतिथियों का स्वागत किया गया एवं कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलित कर की गई। कार्यक्रम में उपस्थित डॉक्टर ए.के. मिश्रा ने बताया कि बच्चों के लिए यह दवा अति-आवश्यक है और कार्यक्रम के दौरान कोई बच्चा छूटने नहीं पाए, हमें यह देखना है।
एन.सी.डी.ओ डॉ. सत्येंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि इस मेडिसिन का कोई दुष्प्रभाव नहीं है। कृमि की वजह से बच्चों में खून की कमी पाई जाती है, जिससे कि बच्चों का सही विकास नहीं हो पाता है, अतः यह दवा अवश्य खिलाया जाना चाहिए। शशि कान्त सिंह, एस.एम.सी यूनिसेफ ने बताया कि सभी बच्चे अपनी साफ-सफाई का ध्यान रखेंगे और अपने घरों में सभी लक्षित बच्चों का नियमित टीकाकरण अवश्य करना सुनिश्चित करेंगे।
इस कार्यक्रम में डीपीएम शैलेश चंद्रा, डीसीएम रवि रंजन, एसएमसी यूनिसेफ ओंकार चन्द, वकील यादव, कमल किशोर दास एव अन्य लोग उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button