Rajasthan

RAJASTHAN : राजस्थान पुलिस के हेड कांस्टेबल की करतूत, चौकी के आगे बैठी वृद्ध महिला का सरेआम मारी लात

2022 नवंबर 10/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:
राजस्थान के पाली जिले के जैतारण इलाके में एक पुलिसकर्मी की शर्मनाक हरकत सामने आई है. यहां के आनंदपुर कालू थाना इलाके की बलाड़ा चौकी के हेड कांस्टेबल ने वृद्ध महिला को सरेआम लात मार दी.

राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) के व्यवहार में सुधार के तमाम प्रयासों के बावजूद कोई बदलाव आता नजर नहीं आ रहा है. इसकी ताजा बानगी एक दिन पहले पाली जिले में देखने को मिली है. यहां एक पुलिसकर्मी ने पुलिस चौकी के सामने बैठी वद्ध महिला को लात मारकर (Kick) वहां से उठाने का प्रयास किया. पुलिसकर्मी की इस हरकत का वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने वीडियो बना लिया. बाद में उसे वायरल कर दिया. मामला सामने आने के बाद हेड कांस्टेबल को चौकी से हटा दिया गया है. लेकिन पुलिसकर्मी की यह हरकत सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है.

जानकारी के अनुसार मामला पाली जिले के जैतारण उपखंड के आनंदपुर कालू थाना इलाके का है. यहां के बलाड़ा गांव की अस्थायी पुलिस चौकी में तैनात एक हेड कांस्टेबल ने चौकी के बाहर बैठी वृद्धा को लात मार दी. बलाड़ा निवासी नाथूराम अवैध शराब बेचने के दो मामलों में वांटेड था. मंगलवार को उसे गिरफ्तार कर चौकी लाया गया था. नाथूराम को चौकी लाने पर उसकी माता चामुंडा देवी भी बलाड़ा चौकी पहुंच गई और पूछा कि उसके बेटे को चौकी क्यों लाया गया है?

वृद्धा पुलिस चौकी के गेट के आगे बैठ गई थी
इस दौरान वह चौकी के बाहर गेट के सामने ही बैठ गई. वृद्धा को चौकी के बाहर बैठा देखकर चौकी के हेड कांस्टेबल उमराव ने उसे हटने को कहा लेकिन वह नहीं हटी. इस पर हेड कांस्टेबल उमराव ने वृद्धा को मुख्य दरवाजे से जबरन हटाने का प्रयास किया और उसे लात मार दी. इस दौरान इस पूरी घटना को देख रहे किसी ग्रामीण ने उसका वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

नवनियुक्त डीजीपी ने दी थी व्यवहार में सुधार की नसीहत
वीडियो सामने आते ही लोगों की तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी. जैसे ही मामला जिला पुलिस के अधिकारियों तक पहुंचा तो पुलिस ने गलती को सुधारने का प्रयास किया. इसके तहत उमराव को तत्काल चौकी से हटा दिया. उल्लेखनीय है कि हाल में राजस्थान पुलिस महानिदेशक का पदभार ग्रहण करने वाले प्रदेश के नए डीजीपी उमेश मिश्रा ने थाना और पुलिस चौकियों में पुलिसकर्मियों को संयमित व्यवहार करने की नसीहत दी थी. लेकिन पाली में इसका उलटा ही देखने को मिला.

Related Articles

Back to top button