AssamJorhat

हिंदुस्तानी नवयुवक समाज छठ पूजा समिति जनता घाट का सुखद पटाक्षेप !

नई समिति के गठन में अध्यक्ष बने हीरालाल उपाध्या व अवधेश चौधरी बने कार्यकारी अध्यक्ष !

2021 अक्टूबर 27/ PRJ News ब्युरो, जोरहाट:

हिंदुस्तानी नवयुवक समाज छठ पूजा समिति जनता घाट का विवाद काफ़ी उतार चढाव के बीच आखिरकार जोरहाट जिला उपायुक्त महोदय के हस्तछेप के  बाद अच्छे माहौल मे समाप्त हुआ। उल्लेखनीय है कि बीते 10 अक्तूबर को हिंदुस्तानी पंचायती ठाकुरबाड़ी में आयोजित एक सभा से  छठ पुजा समिति का गठन हुआ था।  जिसको लेकर समाज के प्रबुद्घ वर्गो मे काफ़ी रोष देखा गया था और मामला जोरहाट जिला उपायुक्त महोदय के समक्ष चला गया था । समाज के लोगों का आरोप था कि समिति को संविधान के नियमों के विपरीत गठित किया गया था । वहीं समिति में समाज के सभी लोगों का समावेश न किये जाने से समाज के एक बड़े वर्ग के नाराज होने का आरोप भी यह लगा रहा था। इस बीच गत 17 अक्तूबर को हिंदुस्तानी पंचायती ठाकुरबाड़ी परिसर में हिंदुस्तानी नवयुवक समाज की एक आम सभा बुलाई गयी। इस आम सभा का आयोजन छठ पूजा समिति के गठन से असंतुष्ट हुए समाज के लोगों  ने किया था। आम सभा के बाद हिंदुस्तानी नवयुवक समाज छठ पूजा समिति का फिर से गठन करने की भी योजना प्रस्तावित थी। लेकिन मीटिंग में हुए हंगामे के चलते नहीं हो सका । जिला प्रशासन ने इस सभा के लिए सुरक्षा भी मुहैया करवायी थी। विवाद बढ़ता देख जिला उपायुक्त ने दखल दिया और बीते 21 अक्तूबर को दोनों पक्षों को बुलवा भेजा। डीसी के निर्देश पर अतिरिक्त उपायुक्त सत्यजीत चेतिया ने दोनों पक्षों की बात सुनी लेकिन समाधान का फार्मूला नहीं निकाल पाया । इसी बीच पहले से तय सभा का आयोजन 21 अक्तूबर की शाम को ही समाज ने अवधेश चौधरी को अध्यक्ष के रूप में ताजपोशी करते हुए छठ पूजा समिति का फिर से गठन किया। इसके जरिये दोनों पक्ष  एक तरह से आमने-सामने आ गये और जनता घाट कुरुक्षेत्र नजर आने लगा। लेकिन कोई अनहोनी होती इससे पहले ही जिला उपायुक्त अशोक कुमार बर्मन आज शांति दूत कृष्ण के रूप में सामने आये। जिला उपायुक्त सभागार में दोनों पक्षों की तरफ से पांच-पांच लोगों को उन्होंने मीटिंग के लिए बुलाया और मामले को सुलझा दिया। डीसी ने दोनों समितियों को किनारे करते हुए एक नई और व्यापक समिति का गठन किया। इस समिति में दोनों पक्षों के लोग शामिल किये गये। डीसी द्वारा अनुमोदित छठ पूजा समिति के अध्यक्ष पद के लिए समाज के वरिष्ट हीरालाल उपाध्याय के नाम पर सर्वसम्मति बनी। अवधेश चौधरी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया। सचिव पद को लेकर लंबी जिरह चली । एक पक्ष इसके लिए अविनाश चौधरी का नाम आगे बढ़ा रहा था वहीं दूसरा पक्ष  संजय झा के नाम पर अड़ा था। आखिर में जिला उपायुक्त ने सचिव पद को परे हटाते हुए दो संयुक्त सचिव नियुक्त किये। एक पक्ष  ने संजय झा का नाम इस पद के लिए बरकरार रखा वहीं दूसरी तरफ से बदले हालात में राधेश्याम चौधरी का नाम दिया गया। समिति के कोषाध्यक्ष के रूप में राममनोहर जायसवाल के साथ ही प्रमोद कुमार सिंह ,परशुराम झा, प्रबोध मिश्रा, गोपाल बासफोर, राजकुमार चौधरी, शत्रुघ्न कानु,  मनोेज कुमार साहू व कुंदन पासवान को कार्यकारिणी सदस्य के रूप में शामिल किया गया। चर्चा के दौरान डीसी ने दोनों समितियों को जब खारिज किया तो नई समिति के लिए जनता घाट छठ पूजा समिति के रूप में नया नाम सुझाया। लेकिन मतांतर के बावजूद दोनों गुट हिंदुस्तानी नवयुवक समाज की पहचान को छठ पूजा समिति से जुदा करने को राजी नहीं हुए। विवाद के बीच भावनाओं का यह सुखद एहसास था। जिला उपायुक्त ने भी भावनाओं का ख्याल किया और पुराना नाम ही बहाल रखा। वहीं एहतियात बरतते हुए डीसी ने जिला प्रशासन की तरफ से एक अधिकारी को निगरानी का जिम्मा सौंपा है। यह अधिकारी समिति में आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल रहेगा। अधिकारी का चयन जिला उपायुक्त जल्द ही करेंगे। ,सभा के दौरान चर्चा में जिला उपायुक्त पंचायती ठाकुरबाड़ी की व्यवस्था और यहां दक्षिणमुखी बालाजी के विराजमान होने की बात से अवगत हुए। ऐसे में मंगलवार के संयोग पर शाम ढले जिला उपायुक्त अपने पुत्री के साथ बालाजी के दर्शनों के लिए पंचायती ठाकुरबाड़ी पहुंचे। यहां उन्होंने हिंदुस्तानी समाज के लोगों से भी मुलाकात की जिसमें दोनों पक्ष के लोग शामिल थे। वही ठाकुरबाडी के अध्यक्ष रामाधार पंडित ने मंदिर परिसर मे असमिया गमछा पहनाकर उनका स्वागत किया और कार्यकारी अध्यक्ष संजय झा ने उपायुक्त महोदय को ठाकुरबाडी से संबंधित कुछ समस्याओ से अवगत कराते हुए समिति के उपस्थित पदाधिकारी का परिचय कराया, जिला उपायुक्त महोदय ने संजय झा द्वारा दर्शाये समस्याओं को गम्भीरता से लेते हुए जल्द निदान का भरोसा दिलाया । विवाद का निपटारा होने के बाद दोनों पक्षों ने संतोष व्यक्त किया है, वहीं श्रद्धालुओं ने भी राहत की सांस ली है।

Related Articles

Back to top button