Bihar

Bihar में इस ऐप पर करें मुखिया, सरपंच और जनप्रतिनिधियों की शिकायत, 24 घंटे में होगा समाधान !

2021 सितम्बर 02/ PRJ News ब्युरो , बिहार:

पंचायत चुनाव 2021 के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने आम लोगों की सुविधा के लिए अपनी वेबसाइट पर कई व्यवस्थाएं की हैं। इनमें सबसे प्रमुख समाधान ऐप है। इस ऐप पर कोई भी व्यक्ति अपने क्षेत्र के मुखिया, सरपंच या अन्य जनप्रतिनिधियों की शिकायत, आदर्श आचार संहिता उल्लंघन, सुझाव एवं समस्या दर्ज करा सकता है। लोगों की समस्या का समाधान 24 घंटे में किया जाएगा।

राज्य निर्वाचन आयोग की बेबसाइट पर पंचायत चुनाव 2021 दिया गया है, जिसे खोलने पर वोटर कार्नर है। इसमें जाकर समाधान पब्लिक कंप्लेन ऐप दिया गया है। इस पर क्लिक करें। उसके बाद आप अपना नाम, मोबाइल नंबर, जिला और प्रखंड का नाम, पंचायत का नाम, वार्ड का नाम अलग-अलग कॉलम में अंकित करें।

इसमें किसी प्रकार की शिकायत या सूचना दी जा सकती है। जैसे कोई मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य के लिए चुनाव प्रचार करने वाला प्रत्याशी मतदाताओं को प्रलोभन दे रहा हो। यदि कोई सुझाव हो तो वह भी ऐप के जरिए दिया जा सकता है। ऐप पर शिकायत या सुझाव देने के बाद हार्ड कापी अपलोड भी कर सकते हैं।

मतदाता सूची और केंद्र कैसे डाउनलोड करें

यदि बीएलओ या पंचायत चुनाव से संबंधित अधिकारी या कर्मचारी आपको मतदाता सूची उपलब्ध नहीं करा रहे हैं तो आप स्वयं राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर अपने क्षेत्र के मतदाताओं की सूची देख सकते हैं। मतदाता सूची को वेबसाइट पर देखने के लिए वोटर कार्नर में जाकर क्लिक करना होगा, जिसमें कई आप्शन दिए हुए हैं।

इसमें पहला आप्शन है कि आपका बूथ कहां है। इस पर क्लिक कर जानकारी ले सकते हैं। मतदाता सूची को कैसे डाउनलोड करें, मतदाता सूची को कैसे सर्च करें, मतदान केंद्र पर क्या सुविधा है। नामांकन समाप्त होने के बाद आपकी पंचायत में कितने प्रत्याशी हैं इसकी भी जानकारी ले सकते हैं।

मतगणना होने पर इसी ऐप पर आप किस प्रत्याशी को कितना वोट मिला इसकी भी जानकारी ले सकते हैं। इसी प्रकार उम्मीदवारों के लिए भी एक कार्नर बनाया गया है, जिसमें पहले नंबर पर प्रत्याशियों के लिए है कि कैसे ऑनलाइन नामांकन करें। ऑफलाइन आवेदन कैसे किया जा सकता है। इसके अलावा यदि आप नामांकन फॉर्म वेबसाइट से ही डाउनलोड करना चाहते हैं तो वह सुविधा भी उपलब्ध है।

मतदाता हेल्पलाइन

मतदाताओं को यदि किसी प्रकार की कठिनाई होती है तो वह राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी हेल्प लाइन पर संपर्क कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर है- 18003457243

पैसा लेकर चलें तो प्रमाण जरूर रखें 

पंचायत चुनाव को देखते हुए अब प्रशासन धीरे-धीरे सख्ती बरतने लगा है। प्रथम चरण के चुनाव को देखते हुए वाहनों की चेकिंग और आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से अनुपालन कराने पर जोर दिया जाने लगा है। इसी कड़ी में अब वाहनों के चेकिंग के समय यदि आपके पास अधिक रकम मिलती है तो आपको उसका प्रमाण देना होगा।

चुनाव में पैसे के खर्च को लेकर और मतदाताओं को प्रलोभन देने की आशंका अधिक रहती है इसीलिए प्रशासन ने ऐसा किया है। हालांकि, आप कितना भी पैसा लेकर चल सकते हैं लेकिन जब चेकिंग होगी तो आपको इसका प्रमाण देना होगा। विधानसभा चुनाव में 50 हजार रुपये तक लेकर चलने की छूट दी गई थी लेकिन अभी तक इस संबंध में आयोग द्वारा दिशा-निर्देश नहीं दिया गया है।

पटना प्रशासन का कहना है कि चुनाव में पैसे के बदौलत कोई मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित नहीं करें इसीलिए वाहनों में पैसे लेकर चलने वालों पर नजर रखी जा रही है। हालांकि, प्रशासन ने व्यवसायियों को काफी छूट दे रखी है लेकिन उनके पास पैसे का हिसाब किताब होना चाहिए।

मतगणना को लेकर असमंजस 

राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिलाधिकारियों को मतगणना जिला मुख्यालय में कराने का निर्देश तो जारी कर दिया, लेकिन पटना जिले में अब तक इसकी तैयारी नहीं चल रही है। अधिकारियों का कहना है कि पटना बड़ा जिला है इसीलिए सुदूर इलाके से ईवीएम और बैलेट बॉक्स लाना और उसे दो से तीन माह तक एक स्थान पर रखना काफी मुश्किल है। इसीलिए प्रखंडवार मतगणना कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग से अनुरोध किया जाएगा। इस संबंध में प्रशासन आयोग को पत्र भी भेजेगा।

Related Articles

Back to top button