National

Breaking न्यूज : जानिए किन- किन देशों ने भारत पर ट्रैवल बैन बढ़ाया, क्या है इसकी वजह !

भारत में कोविड -19 के नए मामलों में कमी के बावजूद कई देश भारत पर ट्रैवल बैन बढ़ा रहे हैं.सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, फिलीपींस जैसे देशों ने भारत पर ट्रैवल बैन को बढ़ाया है. इसके पीछे कई वजह हैं !

2021 जुलाई 31 / PRJ News ब्यूरो / नई दिल्ली :

भारत में कोविड -19 के नए मामलों में कमी आने के बावजूद कई देश डेल्टा वेरिएंट के तेजी से प्रसार के कारण भारत पर ट्रैवल बैन बढ़ा रहे हैं. डेल्टा वेरिएंट पहली बार अक्टूबर 2020 में भारत में रिपोर्ट किया गया था. अब यह 100 से अधिक देशों में फैल गया है और यूनाइटेड किंगडम सहित कई देशों में कोविड -19 मामलों में फिर से वृद्धि के संभावित कारण के रूप में देखा जा रहा है. हालांकि, भारतीय छात्रों को यात्रा की अनुमति दी जा रही है और विदेशों में भारतीय मिशन प्रतिबंध हटाने पर जोर दे रहे हैं.

सऊदी अरब 
सऊदी अरब ने कहा कि वह ‘रेड लिस्ट’ वाले देशों की यात्रा करने वाले लोगों पर तीन साल का ट्रैवल बैन लगाएगा. इस लिस्ट में भारत के अलावा अफगानिस्तान, अर्जेंटीना, ब्राजील, मिस्र, इथोपिया, इंडोनेशिया, लेबनान, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, वियतनाम और संयुक्त अरब अमीरात शामिल हैं.

संयुक्त अरब अमीरात 
संयुक्त अरब अमीरात ने भी भारतीय फ्लाइट्स पर प्रतिबंध बढ़ा दिया है. एतिहाद एयरवेज ने कहा कि प्रतिबंध कब हटाया जाएगा, यह अभी तय नहीं है.

कनाडा
कनाडा ने भारत से सीधी उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया है. जबकि भारतीय किसी तीसरे डेस्टिनेशन से कनाडा पहुंच सकते हैं.

फिलीपींस

फिलीपींस ने शुक्रवार को भारत और नौ अन्य देशों पर यात्रा प्रतिबंधों को बढ़ा दिया, क्योंकि वह लॉकडाउन प्रतिबंधों को भी फिर से लागू कर रहा है.

फ्रांस ने भारत को रेड लिस्ट से हटाया
इन देशों के अलावा  भारतीय ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंडोनेशिया, इटली, कुवैत, न्यूजीलैंड, ओमान, सिंगापुर आदि की यात्रा नहीं कर सकते हैं. फ्रांस ने हाल ही में भारत को रेड लिस्ट से हटा दिया है और फुली वैक्सीनेटेड भारतीय अब फ्रांस की यात्रा कर सकते हैं. जर्मनी ने भारत के लिए यात्रा प्रतिबंधों में भी ढील दी है.

यात्रा प्रतिबंध लगाने के हैं ये कारण
रिपोर्टों में कहा गया है कि मोटे तौर पर भारतीय यात्रियों पर प्रतिबंध लगाने वाले देशों के पीछे दो कारण हैं. एक कारण प्रतिबंध लगाने वाले देश की कोविड-19 स्थिति है. उदाहरण के लिए फिलीपींस ने शुक्रवार को मनीला राजधानी क्षेत्र में लॉकडाउन लगाया है और यात्रा प्रतिबंध का विस्तार उसका हिस्सा हैं. दूसरा कोविड -19 के डेल्टा संस्करण का प्रसार. चूंकि वेरिएंट का पहली बार भारत में पता चला था, इसलिए कुछ देश भारतीय यात्रियों को लेकर आशंकित हो सकते हैं.

स्टूडेंट के लिए कई देशों ने प्रतिबंधों में दी ढील
विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने हाल ही में संसद में बताया था कि अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, जर्मनी, नीदरलैंड ने भारतीय छात्रों के लिए प्रतिबंधों में ढील दी है. उन्होंने जानकारी दी थी कि अबतक  अमेरिका, यूके, कनाडा, आयरलैंड, जर्मनी, नीदरलैंड, बेल्जियम, लक्जमबर्ग और जॉर्जिया जैसे देशों द्वारा भारतीय छात्रों के लिए यात्रा प्रतिबंधों में ढील दी गई है.

Related Articles

Back to top button