Bihar

JDU विधायक पर लगाया हत्या का आरोप , नीतीश कुमार के जनता दरबार में पहुंची महिला !

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar Janta Darbar) के जनता दरबार में उस वक्त असहज स्थिति पैदा हो गई जब एक फरियादी ने उन्हीं की पार्टी के विधायक पर अपने पति की हत्या का आरोप लगा दिया।

2021 सितम्बर 06/ PRJ News ब्युरो, पटना :

 

बिहार के मुख्यमंत्री के जनता दरबार में उस वक्त असहज स्थिति पैदा हो गई जब एक फरियादी ने उन्हीं की पार्टी के विधायक पर अपने पति की हत्या का आरोप लगा दिया। शिकायत करने आई महिला ने मुख्यमंत्री से बताया कि वह इस मामले को लेकर थाने में भी शिकायत दर्ज करा चुकी हैं लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जनता दरबार (Nitish Kumar Janta Darbar) में सीएम से न्याय की गुहार लगाने पहुंची महिला को नीतीश कुमार ने डीजीपी के पास भेजा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायत करने आई महिला का नाम कुमुद वर्मा है, वह पश्चिमी चंपारण जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने बाल्मीकि नगर के विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह पर पति दयानंद वर्मा की हत्या करवाने का आरोप लगाया है। महिला के अनुसार घटना के बाद विधायक के नाम से मुकदमा दर्ज कराया गया था, तीन लोगों की गिरफ्तारी भी हुई थी लेकिन विधायक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पीड़िता की शिकायत पर सीएम नीतीश ने डीजीपी को निर्देश दिया है कि वह इस मामले को गंभीरता से देखें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि घटना फरवरी महीने की है। पीड़िता के पति दयानंद वर्मा को नौरंगिया पुलिस थाने के पास सिरसिया चौक पर गोली मारी गई थी। उन्होंने बताया कि शिकायत पर थाने में FIR तो दर्ज हुई है लेकिन अब स्थानीय पुलिस द्वारा ही विधायक को बचाया जा रहा है।

पीड़िता द्वारा पुलिस को दर्ज कराए गए बयान के अनुसार, दयानंद वर्मा का शकील मियां नाम के एक शख्स से किसी बात पर झगड़ा हो गया था। झगड़े के बाद शकील, दयानंद को जान से मारने की धमकी देकर गया था। कुछ देर बाद वह विधायक रिंकू सिंह और चार अन्य लोगों के साथ पहुंचा और दयानंद की गोली मारकर हत्या कर दी। दरबार में महिला ने कहा कि इंसाफ के लिए कई दरवाजों पर अपनी आवाज को उठा लिया, अंतिम उम्मीद जनता द्वारा (Nitish Kumar Janta Darbar) और सूबे के मुख्यमंत्री ही हैं।

सोमवार को नीतीश कुमार द्वारा लगाए गए जनता दरबार में ज्यादातर मामले पुलिस प्रशासन या भूमि विवाद से जुड़े मिले। नीतीश कुमार के पास उनके विभागों से जुड़ी शिकायतें भी आई जिसमें गृह विभाग से लेकर मद्य निषेध उत्पाद विभाग, तक शामिल है। पिछले दिनों नीतीश कुमार ने ऐलान किया था कि वह जनता दरबार (Nitish Kumar Janta Darbar) में फिर से लोगों की शिकायतें सुनेंगे।

Related Articles

Back to top button