AssamJorhat

जोरहाट के निमाती घाट पर ब्रह्मपुत्र नदी में दो नाव की टक्कर के बाद मची चीख-पुकार, कई लोग लापता!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रह्मपुत्र नदी में हादसा को लेकर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

2021 सितम्बर 08/PRJ News ब्युरो:

असम के निमाती घाट जोरहाट में ब्रह्मपुत्र नदी में आज बुधवार को दो नाव के बीच टक्कर हो गई. एक नाव दूसरी नाव से टकराकर पलट गई, जिसके बाद  कई लोगों के लापता होने की आशंका है. गुवाहाटी से लगभग 350 किलोमीटर दूर जोरहाट के निमाती घाट पर यह घटना घटी है. बताया जा रहा है कि इसमें करीब सौ से ज्यादा यात्री नाव में सवार थे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रह्मपुत्र नदी में हादसा को लेकर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

एक नाव माजुली (ब्रह्मपुत्र नदी में एक नदी द्वीप) से निमती घाट की ओर आ रही थी जबकि दूसरी नाव विपरीत दिशा में जा रही थी. राज्य आपदा मोचन बल (State Disaster Relief Force) के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और बचाव कार्य शुरू कर दिया है।

केंद्रीय जहाजरानी, बंदरगाह और जलमार्ग मंत्री, सर्बानंद सोनोवाल ने माजुली में हुआ नाव दुर्घटना पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने दुर्घटना के संबंध में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से फोन पर बात की है और जारी बचाव और राहत कार्यों का जायजा लिया है।

स्थानीय निवासियों की मानें तो उस नाव का नाम मां कोमला था जो निमतीघाट से आई थी. घटना स्थान पर मौजूद एक व्यक्ति ने बताया की “बात सिर्फ आज की नहीं है. माजुली और जोरहाट को जोड़ने वाला यह मार्ग कई वर्षों से यात्रियों को परेशानी का सबक बना रहा है. अंतर्देशीय जल परिवहन विभाग के मंत्री की सरासर लापरवाही के चलते आमलोगों को इस स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने आगे कहा- मैं आपको कुछ बताना चाहता हूं, अंतर्देशीय जल परिवहन विभाग के अपने जहाज हैं जो इस क्षेत्र में चालू नहीं हैं, लेकिन निमाती घाट से नौकाएं हमेशा चालू रहती हैं. इसका मतलब यह है कि अंतर्देशीय जल परिवहन विभाग के अपने जहाजों के मालिकों के साथ गुप्त समझौता है. हालांकि इन हालातों ने आमलोगों को घातक स्थिति की ओर धकेल दिया है।

Related Articles

Back to top button