Bihar

तेज प्रताप को RJD से निकाले जाने की खबरों पर लालू परिवार में खामोशी क्यों? जानिए पूरा मामला

Tej Pratap Yadav latest news Update : आरजेडी (RJD) के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari) ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव (Lalu Ydav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव का अब आरेजडी से कोई नाता नहीं है। मगर लालू परिवार की ओर से अबतक कुछ नहीं कहा गया है।

2021 अक्टूबर 07/ PRJ News ब्युरो,पटना :

बिहार की सियासत में लालू यादव काफी ऐक्टिव दिख रहे हैं। तेजस्वी मैनेजमेंट संभाल रहे हैं। मगर पूरे सीन में तेज प्रताप कहीं नहीं हैं। उन्होंने अपने लिए अलग संगठन बना लिया है। इन सबके बीच शिवानंद तिवारी ने कह दिया अब वो पार्टी में नहीं हैं। हालांकि अब तक आरजेडी से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

तेज प्रताप पर कन्फ्यूजन
लालू यादव के बड़े बेटे TEZ PRATAP YADAV अब राष्ट्रीय जनता दल में नहीं हैं। उन्होंने खुद को पार्टी से अलग कर लिया। ऐसी खबरें न्यूज के सभी प्लेटफॉर्म पर है। मगर लालू परिवार से राजनीतिक मसलों पर बयान देने वाले छह लोगों में से किसी ने एक शब्द का ट्वीट तक नहीं किया है। ना ही मीडिया में आकर बयान दिया है। लालू यादव के दोस्त और आरजेडी के सीनियर नेता शिवानंद तिवारी ने तेज प्रताप को लेकर बयान जरूर दिया है।

लालू परिवार अबतक खामोश
लालू परिवार से कुछ छह लोग सियासी मसलों पर बयान देते हैं या फिर सोशल मीडिया पर ऐक्टिव रहते हैं। उनमें लालू यादव, राबड़ी देवी, मीसा भारती, रोहिणी आचार्य, तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव शामिल हैं। मगर तेज प्रताप के पार्टी में नहीं रहने के मसले पर किसी ने खंडन नहीं किया। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके पास कोई आधिकारिक सूचना नहीं है। पार्टी की ओर से उन्हें इस बारे में कुछ भी बताया नहीं गया है।

शिवानंद तिवारी ने क्या कहा?
हाजीपुर में आरजेडी के प्रशिक्षण शिविर में आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि ‘तेजप्रताप पार्टी में हैं कहां? उन्होंने नया संगठन भी बनाया है। वो पार्टी में नहीं हैं।’ उन्होंने कहा कि तेज प्रताप को निष्कासित करने का क्या सवाल है। वह तो अपने निष्कासित हो चुके हैं। उन्होंने जो संगठन बनाया है उसमें तो उन्होंने लालटेन का सिंबल लगाया था। तभी उनको कह दिया पार्टी ने कि नहीं लगा सकते हैं। खुद कबूल किया कि भाई हमको मना कर दिया गया है। यह तो मैसेज क्लियर है।

Related Articles

Back to top button