Rajasthan

JAIPUR : जयपुर जेल में विश्व साक्षरता दिवस पर हुआ मोटिवेशन सेमिनार

महिलाओं के पढ़ने से 2 परिवारों का भविष्य होता है सुरक्षित : डॉ साहिल त्रिवेदी

2022 सितंबर 09/PRJ न्यूज़ ब्यूरो :

विश्व साक्षरता दिवस के मौके पर शिक्षा के प्रति कैदियों को जागरूक करने के लिए जयपुर जेल में सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें शिक्षाविद और मोटिवेशनल स्पीकर डॉक्टर साहिल त्रिवेदी मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद रही। इस दौरान त्रिवेदी ने महिला बंदियों को शिक्षा का महत्त्व समझते हुए साक्षर होने की अपील की।

विश्व साक्षरता दिवस के मौके पर शिक्षा के प्रति कैदियों को जागरूक करने के लिए जयपुर जेल में सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें शिक्षाविद और मोटिवेशनल स्पीकर डॉक्टर साहिल त्रिवेदी मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद रही। इस दौरान त्रिवेदी ने महिला बंदियों को शिक्षा का महत्त्व समझते हुए साक्षर होने की अपील की। उन्होंने कहा कि जब एक स्कूल खुलता है। तो उसके अच्छे प्रभाव से दस जेल बंद होने जैसे हालत बनते हैं। इसी से साक्षरता के महत्व को जाना जा सकता है।

आज के दौर में पढ़ा लिखा व्यक्ति हमेशा अपने परिवार को भी साक्षर बनाने के लिए प्रयास करता है। क्यों की पढ़ लिखकर ही हम अपने आप और अपने परिवार को मजबूत बनाने के साथ बेहतर समाज का निर्माण कर सकते है। डॉ साहिल ने कहा कि महिलाओं के पास असीम शक्ति होती है। वह जो चाहें कर सकती हैं। इसलिए आज के दौर में महिलाओं को साक्षर होने की ज्यादा जरुरत है। क्योंकि शिक्षित महिला दो परिवारों को सामर्थ्यवान बनाकर उनका भविष्य सुरक्षित कर सकती है।

इस दौरान जेल अधीक्षक शिवेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि हर इंसान पूरी दुनिया के लिए बुरा नहीं होता है। हमारे देश में सभी को पढ़-लिखकर समाज की मुख्यधारा में लौटने का अधिकार है। अगर जेल में बंद कैदी भी यह सोचले। तो आने वाले दिनों में ना सिर्फ हर व्यक्ति साक्षर होगा। बल्कि हम क्राइम को कंट्रोल कर सकेंगे।

Related Articles

Back to top button