National

20 अप्रैल को लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें कब और कहां आएगा नजर

2023 अप्रैल 18/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:

साल का पहला सूर्यग्रहण गुरुवार को लगने जा रहा है। यह संयोग वैशाख अमावस्या के दिन बन रहा है। मालूम हो कि यह सूर्यग्रहण दुनिया के कई हिस्सों में देखा जा सकेगा। हालांकि भारत में यह दिखाई नहीं देगा। 2023 में कुल चार ग्रहण लगेंगे, जिसमें से दो सूर्यग्रहण और दो चंद्र ग्रहण होंगे। 20 अप्रैल को वैशाखी अमावस्या के दिन लगने वाला सूर्यग्रहण हाईब्रिड यानी संकर सूर्यग्रहण होगा।

सुबह सात बजकर चार मिनट पर लगेगा सूर्यग्रहण

साल का पहला सूर्यग्रहण सुबह 7:04 से शुरू होगा और दोपहरा 12:29 बजे तक समाप्त हो जाएगा। भारतीय ज्योतिषीय कैलेंडर के मुताबिक, यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। यह सूर्यग्रहण ऑस्ट्रेलिया, पूर्व और दक्षिण एशिया, प्रशांत महासागर, अंटार्कटिका और हिंद महासागर में दिखाई देगा। इसके अलावा पूर्वी तिमोर के पूर्वी भागों में व डामर द्वीप में यह ग्रहण नजर आने वाला है। अंत में इंडोनेशिया में पापुआ प्रांत के कुछ ही हिस्सों में यह दुर्लभ सूर्य ग्रहण नजर आएगा। मालूम हो कि इस सूर्यग्रहण के ठीक 15 दिनों के बाद चंद्रग्रहण लगेगा, जबकि दूसरा सूर्यग्रहण 14 अक्टूबर को होगा।

मालूम हो कि इस ग्रहण का पाथ संकरा होने के कारण इसे संकर ग्रहण कहा जाता है। जिस कारण इसे दुर्लभ भी माना जाता है। इसकी पूर्णता का मार्ग उत्तर पश्चिम केप, पश्चिमी आस्ट्रेलिया के एक दूरस्थ प्रायद्वीप के ऊपर से होकर जाएगा।

चार प्रकार के होते हैं सूर्यग्रहण

एरीज के पूर्व सौर विज्ञानी डा. वहाबउद्दीन के अनुसार, आंशिक सूर्य ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा से सूर्य का केवल एक हिस्सा ढका रहता है। पूर्ण सूर्य ग्रहण में चंद्रमा की छाया पूर्ण रूप से सूर्य को ढक लेती है। विज्ञानियों के लिए पूर्ण सूर्य ग्रहण अधिक महत्वपूर्ण होता है। वलयाकार सूर्य ग्रहण के दौरान चंद्रमा की आंतरिक छाया पूर्णरूप से सूर्य को ढक नहीं पाती है और सूर्य के चारों ओर के किनारे ग्रहण से मुक्त रहते हैं। देखने में यह सूर्य ग्रहण बेहद सुंदर होता है। हाइब्रिड सूर्य ग्रहण में पृथ्वी की घुमावदार सतह के चलते कभी-कभी ग्रहण वलयाकार और पूर्ण के बीच स्थानांतरित हो जाता है।

Related Articles

Back to top button