Rajasthan

Alwar News: यह कोई ट्रेन नहीं बल्कि स्कूल है, लुक ऐसा कि भ्रम में पड़ जाओगे

2023 जनवरी 10/ PRJ न्यूज़ ब्यूरो:
अलवर में सरकारी स्कूल लोगों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ हैं. इस स्कूल को ट्रेन के रूप दिया गया है.

अलवर में सरकारी स्कूल लोगों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. इस स्कूल को ट्रेन के रूप में बदल दिया गया है. इसकी पहल अलवर जिले से शुरू हुई. जो अब अन्य राज्यों के सरकारी स्कूल में भी अपनाया जा रहा है. यह पूरा स्कूल ट्रेन के डिब्बे की तरह से नजर आ रहा है. स्कूल को इस तरह से आकर्षित बनाने की एक खास वजह यह  है कि सरकारी स्कूल में नामांकन बढ़ सके व पढ़ाई के लिए एक सकारात्मक वातावरण बन सके. इस स्कूल का नाम गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल रेलवे स्टेशन है. इसी को देखते हुए स्कूल को ट्रेन के डिब्बे का लुक दिया गया.

इस स्कूल का क्लासरूम पैसेंजर बोगियों, प्रिंसिपल का ऑफिस इंजन और बरामदे को प्लेटफार्म का लुक दिया गया है. इसके बारे में स्कूल के शिक्षकों का कहना है कि पहले स्कूल का नाम रेलवे स्टेशन की तरह से था. इसलिए इसे रेलवे स्टेशन की तरह से डेवलप करने का विचार आया. यह विचार जिला सर्व शिक्षा अभियान के जूनियर इंजीनियर राजेश लवानिया ने दिया
केरल मे भी डिजाइन कर चुके ऐसे स्कूल

राजेश लवानिया ने केरल में इसी तरह के एक स्कूल को रेलवे कोच की तरह लुक दिया था. अलवर में जब यह स्कूल शुरू हुआ था. उस समय यह रेलवे स्टेशन से करीब 50 मीटर की दूरी पर था और एक ऐतिहासिक इमारत में चलाया जा रहा था.
कुछ साल बाद इस स्कूल को 2 किलोमीटर दूर एक कॉलोनी में शिफ्ट कर दिया गया. लेकिन इसका नाम वही रहा. स्कूल के कमरों को ट्रेन की तरह से रंगा गया. इस स्कूल की बाउंड्री को मालगाड़ी की तरह से रंग दिया गया है.

आज यहां 650 से ज्यादा बच्चे हैं

प्रिंसिपल मणिराम गुर्जर ने बताया कि इस नवाचार से यहां नए एडमिशन में बढ़ोतरी हुई. शहरवासी अपने बच्चों को यहां पढ़ने के लिए भेज रहे हैं. पहले इस स्कूल में एडमिशन की संख्या 400 थी. लेकिन अभी यहां बच्चों की संख्या करीब 650 से ज्यादा है.

Related Articles

Back to top button